ग्रामोदय

काछवा के युवाओं को सशक्त कर रहा सरदार पटेल पुस्तकालय : डॉ. चौहान

इस लेख को सुनें
FacebooktwitterredditpinterestlinkedinmailFacebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

ग्रंथ अकादमी उपाध्यक्ष ने पुस्तकालय का दौरा कर लिया व्यवस्थाओं का जायजा

करनाल। करनाल विधानसभा क्षेत्र के काछवा गांव में उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम द्वारा स्थापित और संचालित सरदार पटेल पुस्तकालय काछवा सहित आसपास के ग्रामीण अंचल के युवाओं के लिए वरदान साबित हो रहा है। पुस्तकालय के रूप में ग्रामीण अंचल के युवाओं को अपने स्वाध्याय के लिए एक ऐसा बेहतर स्थान मिल गया है जहां प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी, कंप्यूटर सीखने एवं विभिन्न विषयों पर विस्तृत ज्ञान हासिल करने के लिए महत्वपूर्ण पुस्तकें उपलब्ध हैं। यह टिप्पणी हरियाणा ग्रंथ अकादमी के उपाध्यक्ष एवं भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता डॉ. वीरेंद्र सिंह चौहान ने की। वह सरदार वल्लभभाई पटेल पुस्तकालय का दौरा कर उसकी कार्यप्रणाली एवं व्यवस्थाओं का जायजा ले रहे थे। इस क्रम में ग्राम वासियों से मुलाकात के दौरान उन्होंने पुस्तकालय की लंबित समस्याओं पर भी विस्तार से चर्चा की।

इस अवसर पर डॉ. वीरेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि इस वातानुकूलित पुस्तकालय में पढ़ाई के लिए इतनी अच्छी सुविधाएं उपलब्ध हैं जो आमतौर पर कई अच्छे निजी स्कूलों में भी उपलब्ध नहीं हैं। काछवा गांव मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आता है। प्रदेश सरकार ने उत्तर हरियाणा बिजली निगम के माध्यम से प्रदेश के अलग-अलग गांवों में पुस्तकालयों के निर्माण का फैसला किया है। इस क्रम में वैसे गांवों को प्राथमिकता दी जा रही है, जहां के ग्रामीणों ने जगमग योजना में अच्छी भागीदारी की है और जहां बिजली के बिल कायदे से भरे जा रहे हैं। काछवा में सरदार पटेल पुस्तकालय इसी दिशा में उठाया गया एक कदम है। इसके लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल और उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम दोनों बधाई के पात्र हैं। ऐसा ही एक पुस्तकालय नीलोखेड़ी विधानसभा के गोंदर गाँव में बनकर तैयार हो चुका है।

डॉ. चौहान ने कहा कि पुस्तकें, एयर कंडीशनर, कंप्यूटर एवं बैठने का बेहतर स्थान मात्र साधन हैं। इनका मकसद ज्ञान प्राप्ति की साधना को और अनुकूल एवं सुगम बनाना है। यह साधना परिश्रम, अभ्यास और स्वाध्याय के बिना संभव नहीं है। हरियाणा ग्रंथ अकादमी सरकार का संस्थान है जो पुस्तकों के प्रकाशन का काम करता है। मुख्यमंत्री इसके अध्यक्ष हैं। पुस्तक प्रेमियों एवं पुस्तकालयों को अच्छी पुस्तकें प्रदान करना ग्रंथ अकादमी का दायित्व है। हमें पढ़ाई के साथ साथ अपनी बातों को मजबूत तरीके से रखने की कला भी आनी चाहिए।

डॉ. वीरेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि किताबों के ज्ञान को अपने अंदर उतार कर इसे जीवन में आगे बढ़ने का यदि माध्यम बना लिया जाए तो साधना सफल समझी जाएगी। यह पुस्तकालय जिज्ञासु एवं जागरूक युवाओं को पढ़ने लिखने के लिए बहुत शांत एवं सुंदर माहौल प्रदान करता है। उम्मीद है कि आने वाले दिनों में यहां ज्ञान प्राप्ति के साधन और बढ़ेंगे जिनसे युवाओं की ज्ञान प्राप्ति की राह और सुगम हो सकेगी। उन्होंने विद्यार्थियों का आह्वान किया कि वे केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय द्वारा संचालित नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी ऑफ़ इंडिया के ऑनलाइन संसाधनों का उपयोग भी करना प्रारम्भ करें। इस अवसर पर भाजपा नेता सुरेश भारद्वाज ने डॉ. वीरेन्द्र सिंह चौहान का काछवा पुस्तकालय पहुँचने पर स्वागत किया ।

इस अवसर पर लाइब्रेरियन शालू, पूनम और संचालक एसडीओ संदीप सिकरी के अलावा छात्र सुमित, वैभव, शुभम, विशाल, पूजा और अथर्व भी मौजूद रहे।

FacebooktwitterredditpinterestlinkedinmailFacebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Open chat
Gramoday
Hello ,
How can we help you with Gramoday